बड़ी खबर: सिंघू बॉर्डर पर हंगामा, प्रदर्शनकारी की तलवार से SHO घायल

ECONOMIC सर्वे पर नजर आ रहा CORONA का पूरा असर

Posted on

 

Economic Survey  पर कोरोना महामारी का पूरा असर दिख रहा है. इसके Cover Page  पर आपदा में अवसर की बात कही गई है.

Read – more

Coronavirus India Updates: भारत में पिछले 24 घंटे में COVID-19 के 11,666 नए केस, 123 की मौत

 

 

नई दिल्ली. संसद में आज आर्थिक सर्वेक्षण 2021 (Economic Survey 2021) पेश किया गया. इस रिपोर्ट कार्ड में सरकार के पिछले एक साल के कामों का लेखा जोखा होता है, साथ ही अगले वित्त वर्ष में सरकार किस दिशा में आगे बढ़ेगी उसकी भी जानकारी होती है. इसके कवर पेज पर कोरोना महामारी (Covid-19) के दौरान आपदा में अवसर की बात कही गई है. कोरोना महामारी का देश की अर्थव्यवस्था खासा असर पड़ा है. इससे साफ जाहिर होता है कि सरकार के लिए ये दो बेहद अहम मुद्दे हैं.

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण 1 फरवरी, 2021 को संसद में आम बजट पेश करेंगी. विशेषज्ञों को उम्मीद है कि बजट 2021 (Budget 2021) में वित्त मंत्री स्ट्रैटेजिक ब्लूप्रिंट पेश करेंगी. इस साल की EconomicSurvey रिपोर्ट वह ब्लूप्रिंट है, जिसपर काम करते हुए लक्ष्य को हासिल किया जाएगा. मुख्य आर्थिक सलाहकार केवी सुब्रमण्यम ने कहा कि हमनें मिलकर इस ब्लूप्रिंट में उन सभी पहलुओं को शामिल किया है जो मकसद को हासिल करने का जरिया होंगे.

इस रिपोर्ट कार्ड में साफ नजर आ रहा है कि महामारी से सभी क्षेत्र बुरी तरह प्रभावित हुए हैं, लेकिन बावजूद इसके सरकार ने इतनी बड़ी आपदा के बीच भी निवेश के रास्तों को खोल रोजगार के अवसर बनाए हैं. सर्वे में अर्थव्यवस्था से जुड़ी कई ऐसी जानकारियां व आंकड़े हैं, जिनपर कई लोगों की निगाहे होंगी.इस रिपोर्ट कार्ड को पेश करते हुए वित्तमंत्री ने अगले वित्त वर्ष में भारत की आर्थिक ग्रोथ का अनुमान 11 फीसदी पर रखा गया है. वित्त वर्ष 2021 में आर्थिक ग्रोथ रेट में 7.8 फीसदी के सिकुड़ने का अनुमान है. वित्त वर्ष 2022 के लिए नॉमिनल जीडीपी का अनुमान 15.4 फीसदी पर रखा गया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.