विराट कोहली और जो रूट की नजरें खास कप्तानी रिकॉर्ड पर

VIRAT KOHLI और जो रूट की नजरें खास कप्तानी RECORD

Posted on

 

IND vs ENG: भारत-इंग्लैंड सीरीज का आगाज 5 फरवरी से हो रहा है (PIC: AP)

IND vs ENG: भारत-इंग्लैंड सीरीज का आगाज 5 फरवरी से हो रहा है

IND vs ENG: भारतीय कप्तान विराट कोहली 862 अंकों के साथ अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) की रैंकिंग में चौथे स्थान पर हैं. वहीं, इंग्लैंड के कप्तान जो रूट 823 अंक के साथ पांचवें स्थान पर हैं.

नई दिल्ली. भारत में कोरोना काल में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट पांच फरवरी से उस समय लौटेगा, जब जो रूट (Joe Root) की कप्तानी वाली इंग्लैंड टीम विराट कोहली (Virat Kohli) की अगुवाई वाली टीम इंडिया का पहले टेस्ट में सामना करेगा. यह टेस्ट 5 फरवरी से शुरू होगा और चेन्नई के एम ए चिदंबरम स्टेडियम (चेपॉक) में खेला जाएगा. जो रूट ने 2012 में भारत के खिलाफ टेस्ट डेब्यू किया था, लेकिन यहां कभी उन्होंने टीम की कप्तानी करने का मौका नहीं मिला. यह रूट के लिए सबसे कठिन सीरीज होने जा रही है, क्योंकि हाल ही में ऑस्ट्रेलिया को उसी की सरजमीं पर मात देने वाली भारतीय क्रिकेट टीम का हौसला बुलंदी पर है.

इसके साथ ही विराट कोहली का कप्तानी का रिकॉर्ड बहुत अच्छा है. 4 मैचों की सीरीज में कोहली और रूट की बल्लेबाजी पर भी नजर रहेगी. भारतीय कप्तान विराट कोहली 862 अंकों के साथ अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) की रैंकिंग में चौथे स्थान पर हैं. वहीं, इंग्लैंड के कप्तान जो रूट 823 अंक के साथ पांचवें स्थान पर हैं. आईसीसी रैंकिंग के साथ-साथ इस सीरीज में विराट और रूट की निगाहें कप्तानी के खास रिकॉर्ड पर भी होंगी.

IPL में 150 करोड़ रुपये से ज्यादा कमाने वाले खिलाड़ी बने धोनी, विराट से आगे रोहित

विराट कोहली ने इंग्लैंड के खिलाफ (India vs England) 10 मैचों में कप्तानी की और पांच जीते. वहीं, जो रूट ने भारत के खिलाफ 5 टेस्ट मैचों में कप्तानी की और 4 जीते. 5 जीत के साथ कोहली 2018 में रिटायर हो चुके एलिएस्टर कुक के साथ शीर्ष पर हैं. अगर भारत यह सीरीज जीतता है तो वह एलिएस्टर कुक को पीछे छोड़कर कोहली सबसे सफल कप्तान हो जाएंगे.जहां तक रूट का मामला है, वह एलिएस्टर कुक के नेतृत्व वाली इंग्लैंड टीम में थे, जब 2012 में इंग्लैंड ने भारत से सीरीज जीती थी. कोहली ने 2016-17 में पांच मैचों की सीरीज में इंग्लैंड के खिलाफ कप्तानी की थी. यह सीरीज भारत 4-0 से जीता था. हालांकि भारत 2018 में 5 टेस्ट मैचों में से केवल एक जीत पाया था. उस समय रूट इंग्लैंड के कप्तान थे.

सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी 2021: सिद्धार्थ को रिलीज कर पछताएगा KKR, जानें फाइनल के बेस्ट प्लेयर की 5 बातें

जो रूट की टीम ने 5 में 4 टेस्ट जीते. अन्य महान कप्तानों में महेंद्र सिंह धोनी ने 14 टेस्ट में तीन जीत दर्ज कीं जबकि एंड्रयू स्ट्रॉस ने कप्तानी करते हुए इंग्लैंड को 2011 में चार जीत दिलाई. कपिल देव दूसरे भारतीय कप्तान हैं, जिन्होंने इंग्लैंड में सीरीज जीती. उन्होंने तीन में से दो मैच जीते. भारत-इंग्लैंड के बीच पहला टेस्ट 5 फरवरी से शुरू होगा.

READ – MORE

विराट कोहली ( Virat Kohli) की कप्तानी पर संकट! अब अलग कप्तान की मांग

नई दिल्ली. भारत ने जब से ऑस्ट्रेलिया (India vs Australia) को उसके घर में हराया है, तब से टीम इंडिया में अलग-अलग कप्तान बनाने की मांग फिर सिर उठाने लगी है. ऐसी मांग दिग्गज क्रिकेटर भी कर रहे हैं. सोशल मीडिया में ऐसे दलीलों की भरमार है, जिसमें अलग-अलग कप्तान होने के फायदे गिनाए गए हैं. हाल ही में एक अखबार ने भी अपने एनालिसिस में बताया कि ऑस्टेलिया, इंग्लैंड और वेस्टइंडीज ने कैसे अलग-अलग फॉर्मेट में अलग कप्तान बनाकर कामयाबी हासिल की है. हालांकि, गंभीरता से देखें तो ऐसे एनालिसिस बेहद सतही नजर आते हैं.

1 comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.