तेज गेंदबाज अशोक डिंडा ने लिया संन्यास (साभार-अशोक डिंडा इंस्टाग्राम)

भारतीय गेंदबाज ने लिया संन्यास, एमएस धोनी की कप्तानी में किया था डेब्यू 420-विकेट-लेने-वाले- भारतीय गेंदबाज

Posted on

 

तेज गेंदबाज अशोक डिंडा ने लिया संन्यास (साभार-अशोक डिंडा इंस्टाग्राम)
भारतीय गेंदबाज ने लिया संन्यास, एमएस धोनी की कप्तानी में किया था डेब्यू 420-विकेट-लेने-वाले- भारतीय गेंदबाज
अशोक डिंडा तेज गेंदबाज  ने लिया संन्यास

अशोक डिंडा दाएं हाथ के तेज गेंदबाज हैअशोक डिंडा (Ashok Dinda) ने कहा क्रिकेट को अलविदा, भारत के लिए खेले 13 वनडे, 9 T20 इंटरनेशनल मैच

 

 

नई दिल्ली. टीम इंडिया के तेज गेंदबाज अशोक डिंडा  ने क्रिकेट को अलविदा कह दिया है. मंगलवार को अशोक डिंडा ने कोलकाता में संन्यास का ऐलान किया. 36 साल के इस तेज गेंदबाज ने भारत के लिए 13 वनडे और 9 T20 मैच खेले. डिंडा ने साल 2009 में MS धोनी की कप्तानी में इंटरनेशनल डेब्यू किया था. अशोक डिंडा को श्रीलंका के खिलाफ नागपुर T20 में पहली बार खेलने का मौका मिला था. इसके बाद वो 2010 में जिम्बाब्वे के खिलाफ वनडे डेब्यू करने में भी कामयाब रहे. अशोक डिंडा ने भारत के लिए 12 वनडे और 17 T20 विकेट लिये. हालांकि 2013 के बाद वो टीम इंडिया (indea) से बाहर हो गए और उसके बाद उनकी वापसी नहीं हुई.

अशोक डिंडा का इंटरनेशनल करियर 2013 में ही खत्म हो गया लेकिन पिछले 7 सालों में उन्होंने फर्स्ट क्लास क्रिकेट (first class cricket ) में अपना जलवा दिखाया. डिंडा ने फर्स्ट क्लास क्रिकेट में 420 विकेट लिये. यही नहीं उनके नाम लिस्ट Aऔर T20 में 151-151 विकेट हैं.

अशोक डिंडा के करियर की बड़ी बातें
अशोक डिंडा ने फर्स्ट क्लास क्रिकेट में 420 विकेट हैं, वो बंगाल के 2nd सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज हैं. अशोक डिंडा IPL में 5 टीमों का हिस्सा रहे. वो दिल्ली डेयरडेविल्स, कोलकाता नाइट राइडर्स, पुणे वॉरियर्स, राइजिंग पुणे सुपरजाइंट और रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर की ओर से खेले. अशोक डिंडा ने आईपीएल में 78 मैचों में 69 विकेट झटके. दाएं हाथ के तेज गेंदबाज डिंडा का पहला IPL विकेट विराट कोहली थे.IPL 2021 के 11 अप्रैल से शुरू होने की रिपोर्ट, जानें ऑक्शन से जुड़ी अहम तारीख

ऐसे बने क्रिकेटर अशोक डिंडा 
अशोक डिंडा के फर्श से अर्श तक पहुंचने की कहानी बेहद दिलचस्प है. अशोक डिंडा कोलकाता से 3 घंटे की दूरी पर एक छोटे से गांव मोयना, मेदनीपुर में रहते थे. साल 2004-05 में डिंडा कोलकाता में एक ट्रायल देने आए. जहां उनकी गेंदबाजी देख कोच अटल देव बर्मन बेहद प्रभावित हुए. वहीं से डिंडा के करियर की शुरुआत हुई. डिंडा ने जल्द ही रणजी टीम में जगह बनाई और उसके बाद पीछे मुड़कर नहीं देखा. अशोक डिंडा बेहद मेहनती गेंदबाज थे. उनके बारे में साउथ अफ्रीका के महान तेज गेंदबाज एलेन डोनाल्ड ने कहा था कि उन्होंने डिंडा जैसा मेहनती गेंदबाज कभी नहीं देखा. अशोक डिंडा का इंटरनेशनल करियर जहीर खान, आशीष नेहरा जैसे गेंदबाजों की वजह से थोड़ा फला-फूला नहीं लेकिन यकीन मानिए फर्स्ट क्लास क्रिकेट में इस गेंदबाज का अलग ही रुतबा रहा.



Read more

VIRAT KOHLI और जो रूट की नजरें खास कप्तानी RECORD

Leave a Reply

Your email address will not be published.