भीड़ ने सुखबीर बादल की गाड़ी पर भी हमला किया है. हालांकि, पथराव के वक्त बादल गाड़ी में मौजूद नहीं थे. (फोटो: ANI/Twitter)

Sukhbir Badal की गाड़ी पर हमला, अकाली कार्यकर्ताओं पर चली गोलियां

Posted on

 

भीड़ ने सुखबीर बादल की गाड़ी पर भी हमला किया है. हालांकि, पथराव के वक्त बादल गाड़ी में मौजूद नहीं थे. (फोटो: ANI/Twitter)

भीड़ ने सुखबीर बादल की गाड़ी पर भी हमला किया है. हालांकि, पथराव के वक्त बादल गाड़ी में मौजूद नहीं थे. (फोटो: ANI/Twitter)

Sukhbir Badal Attacked: भीड़ ने बादल की गाड़ी पर भी हमला किया है. हालांकि, पथराव के वक्त बादल गाड़ी में मौजूद नहीं थे. उन्हें सुरक्षित जगह पर ले जाया गया था. इस दौरान दो अकाली दल ने सदस्य घायल हो गए हैं. दल ने कांग्रेस पर नामांकन पत्र भरने से रोकने का आरोप लगाया है.

चंडीगढ़. पंजाब के जलालाबाद में नगर काउंसिल के चुनाव से पहले तनावपूर्ण माहौल तैयार हो गया है. यहां अकाली दल के प्रत्याशी का नामांकन कराने पहुंचे नेता सुखबीर बादल पर हमला हो गया है. इस दौरान उनकी गाड़ी को नुकसान पहुंचा गया. साथ ही उपद्रवियों की तरफ से अकाली दल के कार्यकर्ताओं पर गोली चलने की भी खबर है. इस घटना के बाद अकाली दल और कांग्रेस कार्यकर्ताओं के बीच झगड़ा हुआ है.

जलालाबाद में आज नगर काउंसिल चुनाव में अकाली दल के प्रत्याशी की नामांकन प्रक्रिया होनी थी. इसी के संबंध में दल प्रमुख सुखबीर बादल भी मौके पर पहुंचे थे. इस दौरान उनपर हमला हो गया. अकाली दल ने कांग्रेस पर इस हमले का आरोप लगाया है. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, अकाली दल और कांग्रेस कार्यकर्ताओं के बीच हुए झगड़े में पत्थरबाजी हुई और गोलियां भी चली हैं. खबर है कि तीन अकाली कार्यकर्ताओं को गोली लगी है.

अंग्रेजी अखबार द ट्रिब्यून से बातचीत में यूथ अकाली दल के प्रमुख परमबंस सिंह रोमाना ने बताया कि गुरुवार को कथित रूप से कांग्रेस कार्यकर्ताओं के हमले में अकाली दल के 3 कार्यकर्ता गोलीबारी में घायल हो गए हैं. उन्होंने आरोप लगाया है कि हमलावरों का नेतृत्व कांग्रेस विधायक का भाई कर रहा था. उनके अनुसार यह हमला जलालाबाद एसडीएम कार्यालय के बाहर हुआ.

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, रोमाना ने दावा किया है कि यह हमला सुखबीर बादल पर किया गया था. क्योंकि उनकी एसयूवी पर भी पथराव हुआ है. ट्रिब्यून को उन्होंने बताया ‘सुखबीर बादल सुरक्षित हैं. हमलावरों ने उनकी बुलेट प्रूफ गाड़ी पर गोलीबारी की थी और पत्थर भी फेंके गए थे.

READ MORE

Farmers Protest: प्रियंका गांधी  ने किसान आंदोलन के दौरान हुई पत्रकारों की गिरफ्तारी और बंद की गई इंटरनेट सेवा को लेकर सरकार को घेरा.

नई दिल्‍ली. केंद्र सरकार की ओर से लाए गए 3 कृषि कानूनों (Farm Laws) के खिलाफ किसानों के आंदोलन (Farmers Protest) को 60 दिन से अधिक हो गए हैं. किसानों का यह आंदोलन दिल्‍ली के सिंघु बॉर्डर, टिकरी बॉर्डर और गाजीपुर में चल रहा है. 26 जनवरी को हुई हिंसा के बाद से हालात संवेदनशील चल रहे हैं. पुलिस अलर्ट है. इस बीच कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) ने रविवार को किसान आंदोलन और पत्रकारों की गिरफ्तारी को लेकर बीजेपी व सरकार पर जमकर हमला बोला है. दरअसल सिंघु बॉर्डर पर किसानों का आंदोलन कवर कर रहे स्वतंत्र पत्रकार  मनदीप पूनिया (Mandeep Punia) को पुलिस ने शनिवार शाम गिरफ्तार कर लिया और प्रियंका के इस ट्वीट को इसी घटना से जोड़कर देखा जा रहा है.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.