ग्वालियर मेले का सीएम शिवराज सिंह चौहान ने किया उद्घाटन. (File)

एक तरफ उमा भारती,और दिग्विजय सिंह, मुख्यमंत्री शिवराज ने सबके सामने की मन की बात

Posted on

 

ग्वालियर मेले का सीएम शिवराज सिंह चौहान ने किया उद्घाटन. (File)

ग्वालियर मेले का सीएम शिवराज सिंह चौहान ने किया उद्घाटन. (File)

शराब बंदी और उमा भारती के बयान को लेकर मुख्यमंत्री ने कहा कि मैंने एक भी शराब की नई दुकान नहीं खुलने दी. नशा मुक्ति अभियान चलाकर शराब बन्द करने की कोशिश करेंगे.

 

ग्वालियर. ग्वालियर व्यापार मेले का रविवार को उद्घाटन करने पहुंचे मुख्यमंत्री ने एक तरफ उमा के शराब पर  बयान और दूसरी तरफ दिग्विजय सिंह के बयान पर सबके सामने अपने मन की बात कही. शराब बंदी और उमा भारती के बयान को लेकर मुख्यमंत्री ने कहा कि मैंने एक भी शराब की नई दुकान नहीं खुलने दी. नशा मुक्ति अभियान चलाकर शराब बन्द करने की कोशिश करेंगे. वहीं, पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह पर उन्होंने कहा कि आजकल तो वे महाराज को ही आर्शीर्वाद देने लगे, कोई यकीन करेगा क्या?

मुख्यमंत्री शिवराज ने कहा कि प्रदेश में माफियाओं के खिलाफ अभियान जारी रहेगा. हमारी सरकार माफिया को किसी भी कीमत पर नहीं छोड़ेगी. दिग्विजय की विश्वसनीयता नहीं बची. उनकी बात कांग्रेस ही नही मानती. अब वो महाराज को आशीर्वाद दे रहे हैं. कोई मानेगा क्या?

 ग्वालियर को करोड़ों से सजाया जाएगा

सीएम ने बताया कि ग्वालियर के समग्र विकास के लिए आज बैठक की है. शहर विकास, रोजगार, व्यापार, उद्योग के लिए रोडमेप तैयार किया है. 5 साल में 5 हज़ार करोड़ के विकास कार्य होंगे. स्मार्टसिटी के तहत ग्वालियर शहर की तस्वीर बदल रही है. 2130 करोड़ के काम स्मार्ट सिटी के तहत हो रहे हैं. वेस्टर्न बायपास 418 करोड़ रुपए का रिंग रोड तैयार होगा.कहां कितनी खर्च होगी राशि

रिंग रोड के दोनों तरह संस्थानों को जंगह देंगे. PWD की 89 करोड़ की सड़कें बनेगी. एलिवेटेड रोड स्वर्णरेखा नाले पर बनेगा. जो ग्वालियर के विकास के लिए महत्वपूर्ण होगा. एलिवेटेड रो 850 करोड़ रुपए की लागत से बनेगा. इसका सर्वे जल्द होगा. 240 करोड़ से रेलवे सुविधाओ का विस्तार होगा. 70 करोड़ में बस स्टैंड बनेगा. ग्वालियर को चंबल का पानी देने के लिए 250 करोड़ की योजना शुरू होगी.

ग्वालियर मेले की अद्भुत पहचान

मेले के उद्घाटन पर शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि ग्वालियर का मेला प्रदेश की अद्भुत पहचान है. 1905 से शुरू हुए मेले को नई ऊंचाइयां देने में हम कोई कसर नही छोड़ेंगे. कोरोना के चलते मेले लगाने को लेकर असमंजस में थे, लेकिन मोदी जी के अभियान से कोरोना का खतरा कम हो गया. वैसे भी कोरोना ग्वालियर आने से डरता है. अब मेला लगाने में कोई दिक्कत नही है.

READ -MORE

PSC 2019 की भर्ती प्रक्रिया रोकी जा सकती है : अगर 22 फरवरी तक जवाब पेश नहीं किया तो

जबलपुर : हाईकोर्ट  ने कहा है अगर राज्य सरकार और MP-PSC मामले पर जवाब नहीं देते हैं तो वो 2019 PSC की पूरी भर्ती प्रक्रिया पर रोक लगाई जा सकती है.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.