हरदा में बहू ने ससुर के खिलाफ दुष्कर्म का मामला दर्ज कराया है. (प्रतिकात्मक फोटो)

घरवालों के आगे महीनों गिड़गिड़ाती रही बहू,लेकिन किसी ने दुष्कर्मी ससुर से नहीं बचाया

Posted on

 

हरदा में बहू ने ससुर के खिलाफ दुष्कर्म का मामला दर्ज कराया है. (प्रतिकात्मक फोटो)

हरदा में बहू ने ससुर के खिलाफ दुष्कर्म का मामला दर्ज कराया है. (प्रतिकात्मक फोटो)

घटना रहटगांव थाना क्षेत्र के कचनार इलाके की है. पुलिस के मुताबिक, यहां के जंगल में ससुर ने गभर्वती बहू के साथ दुष्कर्म किया. महिला ने जब पति और ससुरला वालों को इसके बारे में जब भी बताया वे उसे मुंह बंद रखने के लिए कहा करते थे.

हरदा. जिले में ससुर-बहू के पवित्र रिश्ते को तार-तार करने वाला मामला सामना आया है. बहू खुद को ससुर से बचाने के लिए ससुराल वालों के सामने महीनों गिड़गिड़ाती रही, लेकिन किसी ने उसे नहीं बचाया.

घटना रहटगांव थाना क्षेत्र के कचनार इलाके की है. पुलिस के मुताबिक, यहां के जंगल में ससुर ने गभर्वती बहू के साथ दुष्कर्म किया. महिला ने जब पति और ससुरला वालों को इसके बारे में जब भी बताया वे उसे मुंह बंद रखने के लिए कहा करते थे. कई बार महिला को मामले का खुलासा करने पर धमकाय भी गया.

ससुर रखता था बहु पर बुरी नजर

जानकारी के मुताबिक, महिला ने अपने मायके वालों के साथ चिचोली थाना पहुंचकर सुसर, पति सहित सुसराल पक्ष के 6 के खिलाफ दुष्कर्म, धमकाने सहित अन्य धराओं में केस दर्ज कराया है. केस डायरी रहटगांव थाने पहुंच गई है. पुलिस ने बताय कि मूल रूप से बैतूल जिले के चिचोली थाना क्षेत्र का रहने वाले देवकरण पिता दुलीचंद यादव वर्तमान में कचनार के पास जंगल में परिवार के साथ रहता है. ससुर देवकरण ने अपने बेटे गुरुचरण की पत्नी के साथ 1 अगस्त 2019 से 3 फरवरी 2021 के बीच दुष्कर्म किया.घरवालों ने नहीं की बहू की मदद

महिला ने बताया कि इस दुराचार की बात उसने पति गुरुचरण के अलावा ससुराल के दीप पिता दुलीचंद, बलराम पिता दुलीचंद यादव, सालकराम पिता दुलीचंद यादव, लालू पिता दुलीचंद यादव को भी बताई. लेकिन कोई मदद के लिए आगे नहीं आया. उल्टा, मामला खोलेने पर उसे ही धमकाया. इस मामले में पीड़िता ने चिचोली थाने में शिकायत दर्ज कराई. चिचोली पुलिस ने शून्य पर केस दर्ज कर डायरी रहटगांव थाने भेज दी है. पुलिस ने बताया कि घरवालों ने महिला की तब भी मदद नहीं कि जबकि वह उनके ही परिरवार के अंश को जन्म देने जा रही है. महिला उनके वंश को आगे बढ़ाएगी, ये भी नहीं सोचा घरवालों ने.

READ MORE

PSC 2019 की भर्ती प्रक्रिया रोकी जा सकती है : अगर 22 फरवरी तक जवाब पेश नहीं किया तो

जबलपुर : हाईकोर्ट  ने कहा है अगर राज्य सरकार और MP-PSC मामले पर जवाब नहीं देते हैं तो वो 2019 PSC की पूरी भर्ती प्रक्रिया पर रोक लगाई जा सकती है.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.