TV की 'नागिन' सुरभि ज्योति ने फैंस को किया मदहोश, सोशल मीडिया पर छुड़ाए लोगों के पसीने

कितनी कारगर है बाबा रामदेव की नई कोरोनिल दवा

Posted on

 

बाबा रामदेव ने दिल्ली में केद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन और केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गड़करी की मौजूदगी कोरोना उपचार की नई दवा लांच की है. दरअसल पतंजलि की इस दवा को अब स्वास्थ्य मंत्रालय ने इम्युनिटी बुस्टर से बदलकर कोरोना के लिए लाभकारी दवा का लाइसेंस दिया है. अबकी बार दवा के साथ दावा किया गया कि इसे विश्व स्वास्थ्य संगठन का सर्टिफिकेट मिला है. जहां जहां इसका टेस्ट किया गया, वहां ये काफी असरदार रही है.

आयुष मंत्रालय ने कोरोनिल टैबलेट को कोरोना की दवा के तौर पर स्वीकार कर लिया है. पतंजलि का कहना है कि नई कोरोनिल दवा CoPP-WHO GMP सर्टिफाइड है. पहले कोरोनिल दवा को पिछले साल इम्युनिटी बुस्टर के तौर पर बाजार में उतारा गया था लेकिन आमतौर पर इसका इस्तेमाल कोरोना के उपचार की दवा के तौर पर ही हुआ. अब ये कोरोना लाभकारी दवा के तौर पर लांच किया गया है.

रामदेव ने दावा किया कि अब सारे सर्टिफिकेशन के साथ हमारे पास 250 से अधिक रिसर्च पेपर है, अकेले कोरोना के ऊपर 25 रिसर्च पेपर है. उन्होंने ये भी दावा किया कि उनके पास जो रिजल्ट्स आए हैं. साथ ही आयुष मंत्रालय ने जो स्टडी की है, उसके अनुसार कोरोना प्रभावित 70 फीसदी लोगों पर ये तीन दिनों में लाभकारी साबित हुई है.

सवाल – रामदेव की कोरोना की नई दवा का नाम क्या है
– ये दवा कोरोनिल ही है, जो तीन दवाओं की किट के तौर पर है. इसमें कोरोनिल टैबलेट, श्वासारी वटी टैबलेट और अणु तेल है. तीनों के सेवन से कोरोना 03 दिनों से लेकर 07 दिनों के भीतर ठीक होने का दावा किया गया है.

इन दवाओं के जरिए क्या होता है

– ये दावा किया गया कि प्री क्लिनिकल रिसर्च और बाद में हुए परीक्षणों के जरिए ये साबित हुआ है कि ये दवा कोरोना रोगी के श्वसन तंत्र को मजबूत करके रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के साथ चिकित्सा में वैज्ञानिक तौर पर अहम भूमिका निभाती है.

ये औषधियां मनुष्य के फेफड़ों से लेकर पूरे शरीर की इम्युनिटी को प्रभावी तौर पर बूस्ट करती हैं. कोरोना संक्रमण की चेन को तोड़ती हैं.

ये काम ये दवा किस तरह करती है

– कोरोना वायरस शऱीर में प्रवेश करके फेफड़ों की बेसिक यूनिट एल्वियोलाई को हाईजैक करते हुए उसकी अंतर की कार्यप्रणाली को बाधित करने की कोशिश करता है और साइटोकाइन्स का तूफान खड़ा करके सैकड़ों और लाखों की संख्या में अपने जैसी डुप्लीकेट कॉपी तैयार करने लगता है. ये औषधियां इस प्रक्रिया को बाधित करती हैं, साथ ही शरीर की फाइटर इम्युन कोशिकाओं को बढ़ाकर कोरोना वायरस के संक्रमण को अत्यंत प्रभावी तरीके से कंट्रोल करती हैं.

इस दवा से कोरोना की स्थिति में और क्या होता है

– दावा है

 READ MORE

मिथुन चक्रवर्ती से मिले संघ प्रमुख मोहन भागवत, अटकलें हुई तेज

1 comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *